अपने जज्बे के बल पर कोई भी मुकाम हासिल कर सकते हैं दिव्यांग : मंत्री

1 min read

इमामगंज(शिवनंदन प्रसाद)। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के एडिप योजना के अंतर्गत रविवार को इमामगंज प्रखंड क्षेत्र के दिव्यांग छात्र सहाय्यों के ट्राई साइकिल सहित विभिन्न प्रकार के अन्य सहायक उपकरण वितरित किए गए। इमामगंज टाउन हॉल में आयोजित कार्यक्रम में बिहार सरकार के लघु सिंचाई एवं एससी एसटी के मंत्री संतोष कुमार सुमन और औरंगाबाद सांसद सुशील कुमार सिंह, स्थानीय बीडीओ जय किशन कुमार, शिक्षा पदाधिकारी राम सेवक राम, पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी अजीत कुमार, विधायक प्रतिनिधि वीरेंद्र कुमार सहीत अन्य जनप्रतिनिधि की दिव्यांगो लोगों जनों को विभिन्न उपकरण वितरित किए गए। इस मौके पर कुल 96 लाभार्थियों को विभिन्न प्रकार का सहायक उपकरण वितरित किया गया। मुख्य रूप से (11) ट्राई साइकिल,(20) ट्राई साइकिल फो¨ल्डग व्हीलचेयर, (60) बधीर यंत्र (कान की मशीन), (5) रिवसेवन सहित अन्य प्रकार का उपकरण वितरित किया गया। इसी समारोह के दौरान सांसद सुशील कुमार सिंह ने एक मुह भाग्य दिव्यांगो बच्ची को इस बार मैट्रिक में अच्छे नंबर से पास करने पर उसे मंच पर बुलाकर नगद राशि देकर उसे सम्मानित कर उत्साह बढ़ाया। इस समारोह के दौरान उन्होंने कहां की यह उपकरण सामग्री भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को), कानपुर द्वारा उपलब्ध कराया गया। जिनके सौजन्य से आज का कार्यक्रम आयोजित किया गया। सांसद ने कहा कि दिव्यांगों को उपकरण वितरण करने से आपार सुख की प्राप्ति होती है। आज ट्राइसाइकिल समेत कई उपकरण मिलते ही दिव्यांगों के चेहरे खिल उठे। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी ने देश के शारीरिक रूप से कमजोर दिव्यांग जनों के लिए दिव्यांग योजना लाई जो पहले समाज के लोगों के द्वारा दिव्यांग जनों को अपमानित दृष्टि से उन्हें देखा जाता था। जो प्रधानमंत्री ने इस तरह का मुहिम लाकर उन्हें रोजगार से जोड़ने के लिए एवं उनके सहायता पहुंचाने के लिए कई कार्यक्रम चला रहे हैं। इसलिए आप लोग समझ सकते हैं कि हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी आप लोगों को कितना सामान करते हैं। आगे उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति शरीर से दिव्यांग है और उनकी दिमाग तेज है तो उन्हें अपने आप में कमजोर नहीं समझना चाहिए जीवन में उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा होनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर उन्होंने बताया कि हमारे एक मित्र है जो दोनों आंख से सुर है काम से भी उन्हें कम सुनाई देती है। लेकिन इसके बाद भी उन्होंने मन से अपनी हिम्मत नहीं हारी और आगे पुरजोर मेहनत करते रहे आज लह लखनऊ के डीसी हैं। इसी दौरान दिव्यांग जनों की शिक्षा देने वाले एक शिक्षक ने प्रतिज्ञा पत्र में श्री सांसद से मांग किया कि सर हम दिव्यांग जनों की शिक्षा देते हैं। जितनी शिक्षा देने के लिए एक मध्य विद्यालय एवं प्राथमिक विद्यालय के टीचर को मेहनत करना होता है। लेकिन आज हमको 14 हजार वेतन मिलती है वही उन विद्यालय के टीचरों को 25 हजार से 30 हजार मिल रही है। उन्होंने मांग किया कि क्यों नहीं हमारा ही वेतन इसी प्रकार मिल सके। वहीं सांसद सुशील कुमार सिंह ने इस बात को समर्थन करते हुए कहा कि मैं और बिहार सरकार के मंत्री संतोष कुमार सुमन भी आपके बात को माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक पहुंच जाऊंगा‌। वही इस समारोह के दौरान बिहार सरकार के लघु सिंचाई एवं एससीएसटी के मंत्री संतोष कुमार सुमन ने कहा कि दिव्यांग को कभी यह महसूस नहीं होना चाहिए कि वे दिव्यांग हैं। उनके पास भी जज्बा है और अपने दम पर कोई भी मंजिल हासिल कर सकते हैं। वहीं उन्होंने उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं एवं ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी हम से जो भी मांगे रखे हैं वह आप सबों का पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। इस मौके पर इमामगंज बीजेपी के पक्षी मंडल के प्रखंड अध्यक्ष गंगाधर पाठक, पूर्वी मंडल के मनोज कुमार सिन्हा, पूर्व मंडल अध्यक्ष मनोज पांडे, हम के प्रखंड अध्यक्ष रामप्रीत भारतीय, जदयू के प्रखंड अध्यक्ष बृजनंदन प्रसाद दांगी, हम के इमामगंज विधानसभा विधायक प्रतिनिधि वीरेंद्र कुमार दांगी, जिला के श्रीकांत प्रसाद, आईटी सेल के प्रखंड प्रभारी अनूप कुमार वर्मा, अवसर पर अपर समाहर्ता, अखिलेश कुमार विश्वकर्मा, बीजेपी के पूर्व प्रखंड अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह, बृजेश सिंह, प्रखंड साधन सेवी बालकुमुद मिश्र, शिक्षक मोतीलाल सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *