January 18, 2021

फिजियोथेरेपी और फिट इंडिया मूवमेंट को लेकर निकाली गई जागरुकता रैली

1 min read

जागरुकता रैली में शामिल छात्र

जागरुकता रैली में शामिल छात्र

बोधगया(प्रतिनिधि)। फिजियोथेरेपी विभाग मगध विश्वविद्यालय के तत्वाधान में फिजियोथेरेपी के शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं ने शनिवार को जागरुकता रैली निकाली। फिजियोथेरेपी के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फिट इंडिया कार्यक्रम के तहत लोगों को यह जानकारी देने की कोशिश जागरुकता रैली के माध्यम से की गई। इस दौरान जागरुकता रैली में शामिल छात्रों व शिक्षकों ने लोगों को बताया कि फिट रहना आज के परिवेश में कितना जरुरी है और उसका सरल उपाय है तेज चलना सभी शिक्षकों और विद्यार्थियों ने मगध विश्वविद्यालय से लेकर महाबोधी टेंपल तक पैदल यात्रा की बच्चों के हाथ में कई तरह के स्लोगन और तख्तियां थी।
जागरुकता रैली में शामिल छात्र

इसमें उन्होंने एक्सरसाइज के महत्व को दर्शाया फिटनेस के महत्व को दर्शाया मूवमेंट को दर्शाया और गतिविधि को दर्शाया और उन्होंने यह संदेश देने की कोशिश की कि अगर हमें फिट रहना है और अपने आपको जीवन शैली की बीमारियों से बचाना है तो हमें निरंतर कोई ना कोई किसी ना किसी तरह की कसरत करते रहनी चाहिए जिससे हमारा स्वास्थ्य सबल सुंदर और स्वस्थ रह सकें इस रैली का मगध विश्वविद्यालय के कुलसचिव ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और उन्होंने फिजियोथेरेपी दिवस जो कि 8 सितंबर को मनाया जाता है और इस सप्ताह के लिए सारे शिक्षकों और छात्र छात्राओं को बधाई दी,और उत्साहवर्धन किया। आपको बता दें कि इसी सप्ताह समारोह के अंतर्गत 11 सितंबर को एक फ्री स्वास्थ्य सेवा कैंप लगाया जा रहा है और 14 सितंबर को रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसमें छात्र-छात्राओं को प्रेरित किया जा रहा है कि अधिक से अधिक संख्या में अपना योगदान दें और रक्तदान दें क्योंकि रक्तदान ही जीवनदान है । इस अवसर पर फिजियोथेरेपी विभाग के निदेशक डॉक्टर तेतरवे ने सभी शिक्षकों व छात्र छात्राओं को बधाई दी। इसी क्रम में वृक्षारोपण कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ जिसमें विभाग के पूर्व निदेशक डॉक्टर बीपी नलिन ने वृक्षारोपण करके छात्र एवं छात्राओं को सृष्टि संरक्षण के लिए प्रेरित किया और बताया कि एक वृक्ष अगर हम लगाते हैं अपने जीवन में आने वाली कई पीढ़ियों को छाया प्रदान कर सकता है अतः वृक्ष लगाना भी हमारा एक कर्तव्य और दायित्व है। विभाग के शिक्षक डॉ. आनंद प्रियदर्शी, डॉ. पूर्णिमा कुमारी, डॉ. रोहित, डॉ. कनिका और डॉ. नीरज सिंह उज्जैन मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *